X
    Categories: HOME

Railway act 1989 की section 143 क्या है?_रेलवे टिकट बुकिंग की जानकारी

Railway act 1989 की section 143 क्या है?_रेलवे टिकट बुकिंग की जानकारी

क्या आप IRCTC के पर्सनल अकाउंट से किसी और का ट्रेन टिकट बुक कर सकते हैं या नहीं जाने पूरी जानकारी?

आज के हमारे इस पोस्ट में हम आपसे INDIAN RAILWAY तथा IRCTC की धारा 143 के बारे में बात करने वाले है!

रेलवे में 1989 के तहत पूरे 200 धाराओं के बारे में बताया गया है। इन्हीं 200 धाराओं के अंतर्गत एक धारा आती है 143 तो आज के हमारे इस पोस्ट में हम इसी 143 धारा के बारे में बात करने वाले हैं कि आपको 143 धारा किस लिए दी जा सकती है और 143 धारा के अंतर्गत आपको क्या जुर्माना तथा क्या सजा हो सकती है पूरी जानकारी आज के हमारे इस पोस्ट में आपको मिलेगी।

Railway act 1989 की section 143 क्या है?

जबसे IRCTC के द्वारा ई टिकट सर्विस लाया गया तब से लोग खुद से ही IRCTC के माध्यम से अपना ट्रेन टिकट बुक कर पाते हैं। अब IRCTC पर अपना एक अकाउंट बनाना बहुत ही आसान हो गया है अगर आप चाहें तो IRCTC पर अपना पर्सनल अकाउंट बनाना तो आप कुछ मिनटों में आसानी से बना सकते हैं। आसानी से IRCTC पर एकाउंट बनने के कारण बहुत से ऐसे लोग हैं जो IRCTC पर फर्जी तरीके से अपना अकाउंट बना कर कुछ पैसे कमाने के लिए लोगों का ज्यादा पैसों में ट्रेन टिकट बुक करके उन्हें देते हैं जो की पूरी तरह से गैरकानूनी है।

अगर आप अपने पर्सनल IRCTC अकाउंट से किसी दूसरे को टिकट बना कर देते हैं और आप पकड़े जाते हैं तो आप पर रेलवे एक्ट 1989 सेक्शन 143 के तहत आप पर कार्रवाई हो सकती है आपको 3 साल के लिए जेल भी हो सकता है आपको ₹10000 तक का जुर्माना देना पड़ सकता है इसी के साथ-साथ आपका जो IRCTC का अकाउंट है वह हमेशा के लिए बैन किया जा सकता है।

अगर आप अपने IRCTC के पर्सनल अकाउंट से किसी और को ट्रेन टिकट बना कर देते हैं और जिसे आपने ट्रेन टिकट बना कर दिया है उसका टिकट चेक होता है और उसके टिकट में जो पर्सनल आईडी दिया होता है वह उसके नाम से अगर मैच नहीं होगा तो भी आप इसमें पकड़े जा सकते हैं और इस कंडीशन में आपके साथ-साथ जिसको आपने ट्रेन टिकट बना कर दिया है वह भी दिक्कत में पड़ सकता है उसको भी जुर्माना देना पड़ सकता है।

रेलवे के नियमों के अनुसार आपको 1 महीने में सिर्फ 6 टिकट बुक करने की अनुमति है और आप एक दिन में दो से ज्यादा टिकट बुक नहीं कर सकते!

पर जब ई टिकट सर्विस को लाया गया था उस वक्त रेलवे के नियमों के अनुसार आप 1 महीने में 10 टिकट बुक कर सकते थे लेकिन लोग 1 महीने में 10 टिकट बुक नहीं कर पा रहे थे ज्यादा से ज्यादा लोग 1 महीने में 6 टिकट बुक कर पाते थे इसलिए यह नियम लाया गया कि आप 1 महीने में 6 से ज्यादा टिकट नहीं कर पाएंगे और 1 दिन में 2 से ज्यादा टिकट नहीं कर पाएंगे

एक बात बता दें कि अगर आप अपना आईडी प्रूफ IRCTC में डालते हैं आपका जो टिकट बुकिंग का लिमिट है वह बढ़ा दिया जाता है अगर आप अपना कोई भी आईडी प्रूफ डालकर IRCTC में उसे वेरीफाई करवाते हैं तो आपको 1 महीने में 12 टिकट बुक करने की अनुमति दी जाती है लेकिन आप इसमें अपने पर्सनल अकाउंट से सिर्फ अपना ही टिकट बुक कर सकते हैं आप अपने पर्सनल अकाउंट के द्वारा किसी और का टिकट बुक नहीं कर सकते।

आइए अब जानते हैं कि आप अपने IRCTC के पर्सनल अकाउंट के द्वारा किन-किन लोगों का ट्रेन टिकट बुक कर सकते हैं?

आपको बता दें कि अगर आपका IRCTC का पर्सनल अकाउंट है तो उसके द्वारा आप अपने फैमिली मेंबर के टिकट बुक कर सकते हैं जिसमें कि आपके माता-पिता, भाई-बहन, बीवी और आपके बच्चे हो सकते हैं आप अपने फैमिली मेंबर में इतने लोगों का ट्रेन टिकट बुक कर सकते हैं अगर आप इन सब लोगों के अलावा अपने किसी रिश्तेदार का भी ट्रेन टिकट बुक करते हैं और आप टिकट चेक के द्वारा पकड़े जाते हैं तो आप पर कार्यवाही हो सकती है।

आइए अब जानते हैं कि एजेंट क्या करते हैं?

तो जो एजेंट होते हैं वह जैसे कि आपने देखा होगा किसी भी साइबर कैफे में या कहीं ऐसा जिन्होंने अपना टिकट बुक करने के लिए एक पर्सनल काउंटर बनाया हो वह ट्रेन टिकट करके ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं। तो अगर कोई ट्रेन टिकट बुक करने के लिए एजेंट बनना चाहता है तो ट्रेन टिकट बुक करने के लिए एजेंट आईडी लेनी पड़ती है और एजेंट आईडी लेने के लिए अच्छे खासे पैसे देने पड़ते हैं और एजेंट आईडी के द्वारा आप जितने चाहे उतने ट्रेन टिकट बुक कर पाते हैं और उसमें आपको हर ट्रेन टिकट बुकिंग पर कुछ कमीशन मिलती है जिसके द्वारा आप IRCTC ट्रेन टिकेट बुकिंग के द्वारा अच्छे पैसे कमा सकते हैं पर कुछ एजेंट होते हैं जो नहीं चाहते हैं एजेंट आईडी खरीदना क्यों की एजेंट आईडी खरीदने में भी पैसा देना पड़ता है इसलिए वह क्या करते हैं कि अपनाBपर्सनल अकाउंट क्रिएट करते हैं वह कई अलग-अलग मेल आईडी के द्वारा अलग-अलग फर्जी IRCTC का पर्सनल अकाउंट खोलते हैं और आपको बता दें कि इन अकाउंट के थ्रू तत्काल टिकट भी बुक करते हैं अलग-अलग सॉफ्टवेयर की मदद से जिसमें कि यह मोटा पैसा कमाते हैं इसलिए यह IRCTC का पर्सनल अकाउंट खोलते हैं और इसमें अलग-अलग तरीकों से ट्रेन टिकट बुक करते हैं ओर अच्छा खासा पैसा कमाते है । इसलिए जिसके वजह से यह एक्ट लाया गया और ऐसा करते पकड़े जाने पर आपको 143 एक्ट के तहत कुछ इस तरह से आपको दंडित किया जा सकता है।

तो आज के हमारे इस पोस्ट में बस इतना ही आशा करूंगा कि आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा होगा और आपको समझ आया होगा कि रेलवे 1989 धारा 143 क्या है आपको धारा 143 के बारे में हमारे इस पोस्ट के द्वार पूरी जानकारी मिल गई होगी तो अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा तो आप हमें कमेंट में जरूर बताएं और हमारे इस पोस्ट संबंधित आपका कोई भी प्रश्न हो तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं और अगर आप जरा सा भी TECH में इंटरेस्ट रखते हैं तो आप हमारे युटुब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं जिसका नाम है Takniki Jugad तो आज के हमारे पोस्ट में बस इतना ही धन्यवाद।

Railway act 1989 की section 143 क्या है?_रेलवे टिकट बुकिंग की जानकारी

Youtube-:Railway act 1989 की section 143 क्या है?_रेलवे टिकट बुकिंग की जानकारी

 

 

Pankaj mishra: