X
    Categories: KNOWLEDGE

बैंक के पासबुक पर बारकोड क्यों लगे होते है? Bar code kya hai?

बैंक के पासबुक पर बारकोड क्यों लगे होते है? Bar code kya hai?

हाय आज के इस पोस्ट में मैं आपको बताने वाला हूं कि क्यों जो हमें बैंक की तरफ से पासबुक दिए जाते हैं उनमें बारकोड होते हैं या फिर बारकोड चिपकाए जाते हैं बारकोड क्यों जरूरी होता है और बारकोड हमारे क्या काम में आता है बारकोड के क्या-क्या फायदे हैं और क्या क्या नुकसान है आज हम हमारे इस पोस्ट के माध्यम से बैंक के तरफ से दिए जाने वाले पासबुक में लगे बारकोड के बारे में पूरी जानकारी जानेंगे तो आप बने रहे हमारे इस पोस्ट के साथ और जाने की जो बैंक के साथ पासबुक में बारकोड लगे होते हैं उनका क्या काम होता है तो आइए जानते हैं पूरी जानकारी।

आप अगर किसी भी बैंक में नया खाता खुलवा ते हैं तो आपको उसके साथ पासबुक, चेकबुक तथा एटीएम डेबिट कार्ड आपको प्रदान कराया जाता है उस बैंक के द्वारा पर आप देखते होंगे कि जो आपको पासबुक मिलता है उसमें पहले से किसी-किसी पासबुक में बारकोड लगे होते हैं या फिर किसी-किसी पासबुक में आपको बाहर से स्टीकर के द्वारा एक बारकोड लगवाना पड़ता है आखिर क्यों वह बारकोड आपके काम में क्या आता है क्यों बार कोड लगाया जाता है और क्या क्या यूज इसके तो आइए जानते पुरी जानकारी।

तो अगर आपका किसी भी बैंक में खाता है तो आप तो जानते ही होंगे कि जो पासबुक होता है उसमें आपके जो पैसों की लेनदेन पैसे डालने और निकासी की पूरी जानकारी उसमें होती है की कब आपने पैसे निकाले और कब आपने डालें तो यह पूरी जानकारी लेने के लिए आपको अपने पासबुक को अपडेट करवाना पड़ता है अपडेट करवाने के लिए आप अपने बैंक के शाखा में जाते हैं जिसमें आपका अकाउंट हो और वहां के कर्मचारियों को कहते हैं कि पासबुक अपडेट करवाना है और उनके द्वारा आप पासबुक अपडेट करवाते होंगेे।

पर अब के दिनों में ऐसा करवाना कोई जरूरी नहीं है अगर आप किसी भी बैंक में अपना खाता खुलवाते हैं तो आप देखते होंगे अधिकतर जो बैंक  हैं उनके पासबुक में बारकोड पहले से लगा होता होगा या फिर नहीं लगा होता वह तो आपको सस्टीकर के माध्यम से बारकोड लगा कर दिया जाता होगा तो इस बारकोड के बहुत से फायदे है

अगर आपके पासबुक में बारकोड लगा हुआ है तो आपको जरूरी नहीं है कि आपका जिस बैंक में खाता खुला है उसी बैंक की शाखा में जाकर आप अपनें पासबुक को अपडेट कराएं बारकोड का फायदा यह है कि आपका जो भी बैंक है अगर उस बैंक का जैसे एटीएम मशीन होता है वैसे ही जगह-जगह पर इनकी एटीएम मशीन के बगल में बारकोड पासबुक अपडेट के लिए भी मशीन लगा होता है। जीतने भी सहरी इलाके है वहां तो सब जगह एटीएम मशीन के पासबुक अपडेट के लिए भी मशीन लगी होती है पर कुछ जगह होंगे जैसे गांव देहात के इलाकों में शायद अब तक ना लगे हो पासबुक अपडेट के लिए मशीन पर सहरी इलाको मे सब जगह लगी हुई है तो अगर आपके पास बुक में बारकोड लगा हुआ है तो आपको जरूरी नहीं है कि आपको अपने बैंक में जाकर उस पासबुक को अपडेट कराना हो आप जहां एटीएम मशीन है या फिर जहां आपका जो भी बैंक है अगर आपका बैंक पंजाब नेशनल बैंक है या फिर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का बैंक है और उसका पासबुक अपडेट मशीन आपकी कहीं नजदीकी एटीएम मशीन के पास लगा हों तो आप वहां पर अपना पासबुक बहुत ही आसानी से अपडेट करवा सकते हैं।

अपना पासबुक अपडेट करने के लिए आपको सबसे पहले पासबुक का फर्स्ट पेज खोलना होता है और उसे उसी तरह सीधा पासबुक वाली मशीन के अंदर डाल दिया जाता है  तो वह आपके बारकोड स्कैन करके आपकी खाता की पूरी जानकारी को प्रिंट करके आपके पासबुक मे प्रिंट कर देगा और इस तरह से बारकोड के मदद से बहुत ही आसानी से आप अपने पासबुक को  पूरी तरह से अपडेट करा सकते हैं।

पर अब जितने भी बैंक है सभी डिजिटल होते जा रहे हैं सभी बैंक अब ऑनलाइन ट्रांजैक्शंस प्रोवाइड करवा रही है जितनी भी बैंक  हैं लगभग सभी ने अपना ऐप लॉन्च कर दिया है जिसकी मदद से आप कहीं पर भी बहुत ही आसानी से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं और किसी से भी एनी टाइम पैसे मंगवा सकते हैं बहुत ही आसान हो चुका है और और जो बैंकों के साइड है उनके नेट बैंकिंग के द्वारा भी आप पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं मंगवा सकते हैं यह सब कुछ बहुत ही आसान हो चुका है और आप ऑनलाइन बहुत ही आसानी से आप अपने ट्रांजैक्शन की पूरी जानकारी भी ले सकते हैं

 जैसे कि आपने कब किसको कितने पैसे भेजें और कब किस से कितने पैसे लिए यह सब कुछ जानकारी आप ऑनलाइन देख सकते हैं तो धीरे-धीरे जो पासबुक होती है उन सब में भी कमी आ रहीं है अभी लोग अपने बैंक के जो स्टेटमेंट है कब उन्होंने पैसे ट्रांसफर किए और कब उन्होंने पैसे लिए यह सब कुछ वह ऑनलाइन देख सकते हैं पूरे ट्रांजैक्शन को ऑनलाइन देख सकते हैं और उसी के साथ-साथ इसे वर्ड में या फिर पीडीएफ में डाउनलोड कर सकते हैं और उससे कहीं पर भी सेंड कर सकते हैं किसी को भी शेयर कर सकते हैं तो धीरे-धीरे जो पासबुक है उनकी जरूरत नहीं रहेगी आने वाले दिनों में पासबुक कोई यूज़ नहीं करेगा सब कुछ ऑनलाइन हो जाने वाला है सब कुछ डिजिटल हो जाने वाला है

 तो पासबुक की तो जरूरत ही नहीं पड़ेगी अगर आपको अपने बैंक का स्टेटमेंट निकालना है तो अपने आईडी पासवर्ड डालकर अपने नेट बैंकिंग के द्वारा या फिर अपने एप के द्वारा अपने बैंक का स्टेटमेंट आप बहुत ही आसानी से निकाल पाएंगे। इसलिए आने वाले दिनों में  तो लगता है पासबुक बिल्कुल ही बंद हो जाएगाा।

 तो आशा करूंगा आपको समझ में आया होगा कि आखिरकार पासबुक का जो बारकोड लगता है उसका क्या काम होता है और वह हमारे क्या यूज़ में आता है उसके क्या-क्या फायदे हैं और वह बारकोड हमारे पास  क्यों लगाया जाता है अगर आपको हमारा आज का यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमें कमेंट में जरूर बताएं और इस पोस्ट से रिलेटेड कोई भी क्वेश्चन या फ़िर क्वेरी हो तो आप हमें वह भी कमेंट में बता सकते हैं अगर आप और भी Tech से जुड़ी जानकारियां जानना चाहते हैं तो आप हमारे युटुब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं हमारे यूट्यूब चैनल का नाम तकनीकी जुगाड़ है जिसका लिंक आपको नीचे मिल जाएगा तो मिलते हैं ऐसे ही किसी और मजेदार पोस्ट में आज के हमारे पोस्ट में बस इतना ही धन्यवाद।

YouTube-:बैंक के पासबुक पर बारकोड क्यों लगे होते है? Bar code kya hai?

Pankaj mishra: