X
    Categories: HOME

ट्रेन में मिडिल बर्थ को लेकर अलग है नियम सफर से पहले जरूर पता होना चाहिए ये नियम-railway middle berth rules

ट्रेन में मिडिल बर्थ को लेकर अलग है नियम सफर से पहले जरूर पता होना चाहिए ये नियम-railway middle berth rules

ट्रेन में मिडिल बर्थ को लेकर अलग है नियम सफर से पहले जरूर पता होना चाहिए ये नियम-railway middle berth rules

  • railway middle berth rules
  • indian railways middle berth rules
  • railway rules for middle berth
  • Is there any rule for middle berth in train?
  • middle berth in train
  • रेलवे नियम इन हिंदी 2022
  • ट्रेन में मिडिल बर्थ को लेकर अलग है नियम सफर से पहले जरूर पता होना चाहिए ये नियम
  • अगर ट्रेन में मिडिल बर्थ मिल गई तो नहीं कर सकते हैं या काम इस सीट के लिए यह खास नियम
  • इंडियन रेलवे ट्रेन में मिडिल बर्थ पर सोने के लिए खास नियम जाने रेलवे का नया नियम
  • ट्रेन मिडिल बर्थ गाइडलाइन
  • Train middle birth guideline

तो आज के हमारे इस पोस्ट में हम ट्रेन के मिडिल बर्थ के कुछ खास नियम के बारे में बात करने वाले हैं अगर आपने ट्रेन टिकट बुक करवाया है रिजर्वेशन करवाया है और आपका ट्रेन में मिडिल बर्थ बुक हो गया है तो ट्रेन में सफर को हर कोई आरामदायक बनाना चाहता है टिकट बुकिंग के वक्त हर कोई बर्थ सिलेक्शन अपना अच्छा करता है कि उसे अच्छा बर्थ मिले अच्छा सीट मिले हर मुसाफिर अपना पहले कंफर्ट देखता है बर्थ से लेकर समान को एडजस्ट करने तक सब कुछ परफेक्ट चाहता है पर किसी कारणवश अगर आपका ट्रेन टिकट मिडिल बर्थ में हो जाता है तो उसके लिए भी कुछ खास नियम है आज के हमारे इस पोस्ट में उसी से रिलेटेड बात होगी और भी आपको रेलवे के कुछ खास नियमों की जानकारी दी जाएगी तो आइए पूरी जानकारी जानते हैं हमारे इस पोस्ट के माध्यम से।

अगर आपका ट्रेन टिकट बुकिंग के दौरान रेलवे में मिडिल बर्थ मैं टिकट बुक होता है तो उसमे जो लोवर बर्थ में यात्रा कर रहे होते हैं उनके अनुसार ही खुद को एडजस्ट करना पड़ता है आरक्षित यात्रियों को ना केवल उनके इंतजार में उठना पड़ता है मिडिल बर्थ ऐसी बर्थ होती है जो दिन में तो डाउन रहती है लेकिन रात में इसे चैन पर टांग कर बनाना पड़ता है इस वजह से इस बात को लेकर दिक्कत होती है क्योंकि अगर कोई मिडिल बर्थ खोल लेता है तो लोअर सीट पर बैठने वाले व्यक्ति को मुश्किल होती है ऐसे में आपको नियम पता होना चाहिए जिससे आप अगले यात्री को नियम बता सके यह नियम अगर आपको मिडल बर्थ मिलती है तो भी काम आएंगे और आपको कोई दूसरी बर्थ अलॉट हुआ है तो भी यह नियम काम आएंगे तो मिडिल बर्थ में यात्रा कर रहे यात्रियों को यह जानकारी तो अवश्य होनी ही चाहिए।

मिडिल बर्थ के लिए कुछ खास नियम

तो आपको यह जानना जरूरी है कि रेलवे ने मिडिल बर्थ के लिए कुछ खास नियम तय किए हुए हैं इन नियमों के अनुसार अगर आप का टिकट मिडिल बर्थ में है तो आप 24 घंटे इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे आप सिर्फ रात में ही मिडिल बर्थ खोल सकते हैं इसके अलावा आपको मिडिल बर्थ अगर आपका टिकट हुआ है तो उसे बंद ही रखना होगा और उसकी जगह पर आप लोअर बर्थ में बैठ सकते हैं

मिडिल बर्थ में सोने का नियम और टाइम

अगर आप का टिकट मिडिल बर्थ में हुआ है तो आप देखते होंगे कुछ यात्री ऐसे भी होते हैं जिनका अगर टिकट मिडल बर्थ में हुआ है तो वह मिडिल बर्थ वाले सीट को पहले ही खोल देते हैं जिसकी वजह से लोअर बर्थ में बैठे यात्री को बैठने में परेशानी होती है और दिक्कतों का सामना करना पड़ता है रेलवे के नियम के अनुसार मिडिल बर्थ वाला यात्री अपना बर्थ पर 10:00 बजे रात से सुबह 6:00 बजे तक ही खोल सकता है उस पर सो सकता है रात 10:00 से पहले अगर कोई यात्री मिडिल बर्थ खोलने से रोकना चाहे तो उसे रोक सकता है और वह सुबह 6:00 बजे के बाद मिडल बर्थ वाले सीट को नीचे करवाना चाहे तो करा सकता है ताकि जो यात्री लोवर बर्थ में बैठे हैं उन्हें कोई परेशानी ना हो

जब भी आप ट्रेन में सफर करते हैं तो कुछ नियमों का विशेष ध्यान रखें

रेलवे एक्ट की धारा 156 के अनुसार यात्रियों को ट्रेन के गेट पर यात्रा करना भी कानूनी अपराध है ऐसा करने पर यात्री को ₹500 की जेल के साथ 3 महीने की जेल भी हो सकती है और इसी के साथ रेलवे एक्ट की धारा 145 के तहत पहली बार ऐसा करने पर ₹100 का जुर्माना भी किया जाता है अगर आप दूसरी बार भी यही अपराध करते पकड़े जाते हैं तो आपको ₹250 का जुर्माना या 1 महीने की जेल हो सकती है इसके अलावा ट्रेन में उपद्रव फैलाने पर भी इसी कानून के आधार पर सजा दी जाती है।

दो स्टॉप छूट जाने का नियम

अगर आपका कंफर्म टिकट है और आप ट्रेन के द्वारा यात्रा करना चाहते हैं पर किसी कारणवश आपकी ट्रेन छूट जाती है तो जो टीटी होते हैं वह अगले 2 स्टॉप या अगले 1 घंटे तक दोनों में से जो पहले हो वह टीटी आपकी सीट किसी ओर यात्री को अलॉट नहीं कर सकता अगर आप का स्टॉपेज से ट्रेन छूट चुका है और अगर आप अगले 1 घंटे के अंदर आप अपना सीट पर आ जाते हैं तो वह किसी और को अलॉट नहीं किया जाएगा या फिर अगले दो स्टॉपेज से पहले आप अपनी सीट पर आ जाते हैं तो वह किसी और को अलॉट नहीं किया जाएगा पर किसी कारणवश अगर अगले 2 स्टाफ या फिर 1 घंटे के अंदर आप अपने कंफर्म सीट पर नहीं आते हैं तो आपका सीट किसी और को टीटी द्वारा अलॉट किया जा सकता है और 1 घंटे या फिर दो स्टॉप पार हो जाने के बाद टीटीई के पास यह अधिकार हो जाता है कि आरएसी लिस्ट में आने वाले व्यक्ति को सीट अलॉट कर दिया जाए यह भी एक रेलवे का नियम है इसे भी जानना जरूरी है आप लोग के लिए।

यात्रा के दौरान आप अपनी यात्रा को कैसे बढ़ा सकते हैं?

अगर आप ट्रेन टिकट बुक करते हैं तो कई बार आप देखते होंगे ट्रेन टिकट बुकिंग के लिए कितनी वेटिंग चलती है इस कंडीशन में क्या होता है कि आपके डेस्टिनेशन एड्रेस तक टिकट नहीं मिल पाता है लेकिन वही आप अपने डेस्टिनेशन एड्रेस से एक या दो स्टेशन पहले तक का ट्रेन टिकट बुक करते हैं तो चांसेस होता है कि आपको ट्रेन टिकट मिल जाए और ऐसे ही अगर आप कोई ट्रेन टिकट बुक करते हैं जो आपके डेस्टिनेशन से 1-2 स्टेशन पीछे हैं और आप चाहते हैं अपने यात्रा को बढ़ाना आप और आगे के लिए भी जर्नी करना चाहते हैं तो इस स्थिति में निर्धारित स्टेशन पर पहुंचने से पहले आपको टीटीई को यह सूचना देना पड़ेगा कि आप अपनी यात्रा को बढ़ाना चाहते हैं और जो टीटीई है वह आपसे अतिरिक्त किराया वसूल लेगा और आप आगे की यात्रा के लिए टिकट बना पाएंगे ध्यान रहे आपको एक अलग बर्थ भी दिया जा सकता है अगर खाली बर्थ नहीं मिला तो आपको बाकी यात्रा चेयर कार में करनी पड़ सकती है।

रात 10:00 बजे बाद का नियम

रात के 10:00 बजे के बाद टीटी नहीं करेगा टिकट चेक आपकी यात्रा के दौरान जो टिकट एग्जामिनर होते हैं टीटीई आप से टिकट लेने आते हैं आपका टिकट चेक करते हैं कई बार आप आराम कर रहे होते हैं तो वह देर रात आकर आपको जगाते हैं आपको डिस्टर्ब करते हैं और आपको अपना आईडी वगैरह दिखाने को कहते हैं लेकिन आपको यह जानकारी जरूर होनी चाहिए कि रात के 10:00 बजे के बाद टीटीई भी आपको डिस्टर्ब नहीं कर सकते हैं यह भी रेलवे का एक नियम है 10:00 बजे के बाद टीटीई को सुबह 6:00 से 10:00 बजे के बीच ही टिकट वेरिफिकेशन करना जरूरी है रहता है रात में 10:00 बजे के बाद किसी पैसेंजर को डिस्टर्ब करना यह टीटीई को नहीं करना रहता है और यह जो गाइडलाइन है 10:00 बजे के बाद पैसेंजर को डिस्टर्ब ना करने की यह गाइडलाइन रेलवे बोर्ड की है और इसमें कंडीशन है कि अगर आप रात के 10:00 बजे के बाद यात्रा शुरू करते हैं तो रात के 10:00 बजे के बाद यात्रा शुरू करने वाले यात्रियों पर यह नियम लागू नहीं होता है।

दोस्तों आशा करूंगा कि रेलवे के कुछ यह नियम आपको पसंद आए होंगे आपको रेलवे के कुछ यह नियम अच्छा लगा होगा हमारे आज के इस पोस्ट के माध्यम से आपको कुछ अच्छी जानकारी मिली होगी दोस्तों अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा या फिर हमारे इस पोस्ट से रिलेटेड आपका कोई भी क्वेश्चन है कोई भी क्वेरी है या फिर आप हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट में बता सकते हैं तो आज के हमारे पोस्ट में बस इतना ही मिलते हैं ऐसे ही किसी ओर इनफॉर्मेटिव पोस्ट में आज के हमारे पोस्ट में बस इतना ही धन्यवाद।

यह भी जानें

ट्रेन टिकट कैंसिल कराने पर कितना चार्ज कटता है- IRCTC train ticket cancellation charges

Pankaj mishra: