अग्निपथ योजना क्या है कौन बन सकता है अग्निवीर

अग्निपथ योजना क्या है कौन बन सकता है अग्निवीर

अग्निपथ योजना क्या है कौन बन सकता है अग्निवीर

दोस्तों स्वागत है आपका हमारे आज के एक और नए पोस्ट में और आज के हमारे इस पोस्ट में हम जानेंगे अग्निपथ योजना क्या है कौन बन सकता है अग्निवीर अग्नीपथ स्कीम क्या है अग्निवीर स्कीम क्या है और कौन बन सकता है अग्निवीर

  • अग्निपथ योजना क्या है हिंदी में 
  • अग्निपथ योजना क्या है स्पष्ट कीजिए 
  • अग्निपथ योजना क्या है हाइट 
  • अग्निवीर योजना क्या है
  • अग्निपथ योजना योग्यता

दोस्तों आज के हमारे इस पोस्ट के माध्यम से आपको अग्निवीर तथा अग्नीपथ योजना की पूरी जानकारी मिलेगी दोस्तों जैसा कि अभी तक आपको पता होगा भारतीय सेना में भर्ती को लेकर यह अब तक का एक सबसे बड़ा बदलाव है जिसमें सिर्फ आर्मी ही नहीं भारतीय नेवी, एयरफोर्स सभी में अब अग्नीपथ स्कीम के तहत हैं अब अग्नि वीरों का चयन किया जाएगा और जो भी इस अग्नीपथ स्कीम के तहत चयनित होंगे उन्हें अग्निवीर कहा जाएगा और यह अग्निवीर आर्मी, नेवी, एयरफोर्स में 4 साल के लिए ही नियुक्त किए जाएंगे युवाओं के द्वारा इस चीज को लेकर भारी विरोध किया जा रहा है कि अग्निपथ योजना के तहत उनकी नियुक्ति मात्र 4 साल के लिए होगी पर हकीकत देखें तो ऐसा कुछ नहीं है क्योंकि जो अग्नीपथ स्कीम के द्वारा अग्निवीर बनेंगे 4 साल के बाद इन्हीं अग्निवीरों में से 25 परसेंट अग्निवीरों को बाद में परमानेंट होने का मौका दिया जाएगा या फिर उन्हें कहीं और नौकरी का अवसर दिया जाएगा तथा और भी भारत सरकार के द्वारा सरकारी नियुक्तियों से रिलेटेड उन्हें भारी छूट दिया जाएगा।
अग्निपथ अग्निवीर स्कीम है इसमें सिर्फ 90 दिनों में आर्मी में भर्ती के लिए पहली रिक्रूटमेंट की जाएगी सिर्फ 90 दिनों में आप की भर्ती आर्मी में हो जाएगी पहले चरण में आर्मी के लिए 40,000 नेवी के लिए 3000 और एयरफोर्स के लिए 3500 अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी जितने भी बेरोजगार युवा हैं उन्होंने एक सुनहरा अवसर मिलेगा जैसा कि आपको पता है भारत की जनसंख्या काफी है और यहां पर बेरोजगार युवाओं की संख्या भी ज्यादा है तो इस स्कीम के तहत ज्यादा से ज्यादा युवाओं को सुनहरा मौका मिलेगा आर्मी, नेवी, एयरफोर्स में भर्ती होने का।
आपको बता दें कि जो अग्नीपथ स्कीम के तहत नियुक्त होना चाहते हैं अग्निवीर बनना चाहते हैं तो उन्हें 17 साल से 21 साल के बीच के नौजवानों को अग्निवीर बनने का मौका दिया जाएगा और उनकी ट्रेनिंग मौजूदा रेजिमेंटल ट्रेनिंग सेंटर में ही होगी जिसके लिए इन सेंटरों में इन्फ्राट्रक्चर बढ़ाया जा रहा है आर्मी भर्ती के बाद फौज की जरूरत के हिसाब से अग्निवीरों की तैनाती की जाएगी आर्मी में अग्निवीरों की भर्ती ऑल इंडिया और क्लास के आधार पर होगी भर्ती के बाद उन्हें आर्मी की किसी भी रेजिमेंट या यूनिट में भेजा जा सकता है अग्निपथ स्कीम के साथ ही इंडियन आर्मी में अंग्रेजों के जमाने से चला आ रहा है रेजिमेंट सिस्टम भी बदलेगा अभी सिख रेजीमेंट, राजपूत रेजीमेंट, मराठा रेजिमेंट, जाट रेजीमेंट है उसी कम्युनिटी के युवाओं को सैनिक के तौर पर लिया जाता है परंतु अग्नीपथ स्कीम के तहत ऑल इंडिया ऑल क्लास के आधार पर भर्ती होगी इस पर आर्मी चीफ जनरल मनोज पांडे ने कहा कि अभी भी कमोबेश ऑल इंडिया ऑल क्लास ही है आर्मी की 75 परसेंट यूनिट में ऑल इंडिया ऑल क्लास कंपोनेंट ही हैं रेजिमेंट सिस्टम बदलने का मकसद रिक्रूटमेंट के आधार को और व्यापक बनाना है और देश के हर एक कोने से युवाओं को आर्मी तथा सेना में नियुक्ति के लिए मौका देना है।

अग्नीपथ स्कीम के तहत नेवी में महिलाओं का भी चयन किया जाएगा और महिलाएं भी बनेंगी अग्निवीर
अग्निपथ स्कीम के तहत महिलाओं को भी अग्निवीर बनने का मौका दिया जाएगा अभी तक इंडियन नेवी में महिलाएं जो है वह सिर्फ ऑफिसर रैंक में ही हैं और सेलर में सिर्फ पुरुषों को ही चयनित किया जाता है परंतु अग्नीपथ स्कीम के एलान के साथ ही इंडियन नेवी के चीफ एडमिरल और हरी कुमार ने कहा कि हम अग्निपथ स्कीम के साथ महिला सेलर को भी शामिल करेंगे नेवी चीफ ने कहा कि महिला अधिकारियों को पिछले करीब डेढ़ साल से ऑन बोर्ड तैनाती भी दी गई है हम जनरल न्यूट्रल सर्विस है और अग्निपथ के तहत महिलाओं को भी पूरा मौका दिया जाएगा

आप अग्नीपथ स्कीम के तहत अग्निवीर बनते हैं तो आपकी आए क्या रहेगी आइए जानते हैं
30000 से आपकी सैलरी शुरू होगी अगर आप अग्नीपथ के तहत अग्नि वीर बनते हैं तो अग्नि वीरों को पहले साल ₹30000 मासिक सैलरी मिलेगी इसी के साथ दूसरे साल 33000 तथा तीसरे साल ₹36500 और अंत में 4 साल ₹40000 मासिक सैलरी मिलेगी सैलरी के अलावा आपको रिस्क और हार्डशिप एलाउंस, राशन एलाउंस, ड्रेस और ट्रैवल एलाउंस मिलेगा और स्पेशलाइज मैन पावर के लिए आईटीआई और दूसरे टेक्निकल इंस्टिट्यूट से युवाओं को भी लिया जाएगा अगर आपका 4 साल पूरा हो जाएगा जब सैनिक बाहर आएंगे तो उन्हें सेवा निधि मिलेगी इसमें हर महीने सैलरी से 30 परसेंट अमाउंट कटेगी और इतनी ही राशि है सरकार देगी 4 साल में यह रकम 11 लाख 70 हजार हो जाएगी इसमें कोई इनकम टैक्स नहीं लगेगा अग्निवीर का 4800000 रुपए का लाइफ इंश्योरेंस कवर होगा इसके लिए उन्हें अपनी सैलरी से कोई योगदान नहीं देना होगा लाइफ इंश्योरेंस कवर के अलावा सर्विस के दौरान मौत हो जाने पर 4400000 रुपए का एक्स ग्रेशिया भी मिलेगा साथ ही जितनी सर्विस बची होगी उसकी सैलरी और उस वक्त की सेवा निधि का हिस्सा भी मिलेगा विकलांग होने पर सर्विस से बाहर हुए विकलांग के आधार पर वन टाइम की आर्थिक मदद का भी यहां पर प्रावधान किया गया है।
अगर आप अग्नीपथ स्कीम के तहत नियुक्त किए जाते हैं और अग्निपाथ की 4 साल की अवधी खत्म हो जाती है तो आपको इसमें कोई पेंशन नहीं मिलेगा इसी के साथ एक्स सर्विसमैन का कोई फायदा नहीं दिया जाएगा 4 साल की सर्विस पूरी होने के बाद अग्निवीर जब बाहर होंगे तो यह किसी भी तरह की पेंशन या ग्रेच्युटी के हकदार नहीं होंगे सर्विस के दौरान इन्हें स्किल ट्रेनिंग दी जाएगी 4 साल के बाद सभी अग्निवीर बाहर हो जाएंगे फिर इनमें से अधिकतम 25 परसेंट को रेगुलर कैडर के तौर पर यानी परमानेंट के तौर पर सेना ज्वाइन करने का मौका देगी यह कितना पर्सेंट होगा यह सेना की जरूरत पर निर्भर करेगा ऐसे में सवाल यह उठ रहा है कि युवा क्यों अग्निवीर बने इसके जवाब में एयरफोर्स चीफ ने कहा कि आज भी 12वीं के बाद युवा तो स्किल ट्रेनिंग लेते हैं या हायर एजुकेशन लेते हैं फिर जॉब ढूंढते हैं हम युवाओं को एक साथ तीनों मौका दे रहे हैं उन्हें अच्छी सैलरी मिलेगी 4 साल में अच्छा बैंक बैलेंस हो जाएगा साथ ही उन्हें स्किल ट्रेनिंग भी दी जाएगी नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के तहत नार्मल ट्रेनिंग दी जाएगी उसका क्रेडिट मिलेगा उसमें 4 साल बाद एजुकेशन ले सकते हैं सेना में रहकर ज्यादा आत्मविश्वास के साथ बाहर जाएंगे जिससे अग्निवीरों को एक बहुत बड़ा फायदा होगा।

  • अगर आप भी चाहते हैं अग्निपथ स्कीम के तहत अग्निवीर बनना तो क्या रूल आपको फॉलो करने पड़ेंगे।
    Rules of recruitment in the army
    आर्मी में रिक्रूटमेंट के लिए क्या रूल्स होंगे
    जैसा कि आप जान रहे होंगे जब से अग्निपथ स्कीम लाया गया है तब से कई तरह के सवाल भी उठ रहे हैं मेजर जनरल रिटायर्ड यस मोर ने भी यह बयान दिया था कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश में सेना में रिक्रूटमेंट को पैसा बचाने के हिसाब से देखने लगा है उन्होंने कहा कि अग्निवीर में से कौन से 25 परसेंट परमानेंट होंगे उन्हें कैसे जज किया जाएगा क्योंकि 4 साल का वक्त उनकी स्किल को जज करने के हिसाब से काफी कम होता है उन्हें इतने कम वक्त में कोई स्पेशलाइज्ड ट्रेनिंग भी नहीं दे सकते 4 साल बाद बहुत से युवा सड़कों पर असंतुष्ट होकर घूमेंगे साथ ही इसका फौज पर नेगेटिव असर पड़ेगा अग्निवीर को अलग नजर से देखा जाएगा क्या उन्हें सिक्रेट ड्यूटी दे सकते हैं क्या उन्हें कॉन्फिडेंशियल टास्क दे सकते हैं? कैसे पता होगा कि चार साल बाद जब वह बाहर जाएगा तो अपने साथ डेटा नहीं ले जाएगा? जब उन्हें पता है कि चार साल बाद बाहर कर रहे हैं तो उनकी क्या लॉयलिटी होगी? सुरक्षा और सेना के उत्साह के हिसाब से यह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि आर्मी की आर्मर्ड, मैकेनाइज्ड इंफैंट्री, सिग्नल, एयर डिफेंस की स्पेशलाइज्ड यूनिट में क्या करेंगे क्योंकि किसी भी तरह के स्पेशलाइजेशन में 7-8 साल लगते हैं।उन्होंने कहा कि सबसे बड़ा सवाल यह है कि जो युवा 2 साल से इंतजार कर रहे थे जो युवा मेडिकल और फिजिकल टेस्ट पास कर परीक्षा का इंतजार कर रहे थे उनके साथ बिल्कुल ठीक नहीं है वह क्या करेंगे मेजर जनरल रिटायर वीरेंद्र धनोवा ने ट्वीट किया कि नई स्कीम में सर्विस पीरियड कम से कम 7 साल होना चाहिए और उन में से कम से कम 50 परसेंट को परमानेंट करना चाहिए तो ऐसे ऐसे बहुत सारे सवाल उठ रहे हैं अग्निपथ स्कीम के तहत।

आशा करूंगा कि आपको आज का हमारा यह पोस्ट समझ में आया होगा अग्नीपथ योजना क्या है इस से रिलेटेड आपको पूरी जानकारी मिल पाई होगी आप अग्निवीर कैसे बन सकते हैं इसकी भी जानकारी आपको मिल पाई होगी अगर आपको अग्नीपथ योजना से रिलेटेड आपका कोई भी क्वेश्चन हो कोई भी क्वेरी हो तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं अगर आप हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं तो वह भी आप हमें कमेंट में दे सकते हैं अगर आप ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारियां और भी जानना चाहते हैं तो आप हमारे युटुब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं जिसका लिंक आपको नीचे मिल जाएगा आज के हमारे पोस्ट में बस इतना ही मिलते हैं ऐसे ही किसी और मजेदार पोस्ट में धन्यवाद।

अग्निपथ योजना क्या है कौन बन सकता है अग्निवीर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!